77% महिलाओं का भराेसा म्युच्युल फंड पर, एफडी सिर्फ 31% को पसंद


हायर स्टडी के उद्देश्य के साथ निवेश करने वाली महिलाओं की संख्या के मामले में दिल्ली ने अन्य राज्यों को पीछे छोड़ा.

हायर स्टडी के उद्देश्य के साथ निवेश करने वाली महिलाओं की संख्या के मामले में दिल्ली ने अन्य राज्यों को पीछे छोड़ा.

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर इन्वेस्टमेंट प्लेटफॉर्म ग्रो (Groww) ने सर्वे कराया है. इसमें महिला निवेशकों की निवेश आदतें, प्राथमिकताएं, लक्ष्य, मानसिकता पर फोकस किया गया है.

नई दिल्ली. दिल्ली की महिला निवेशक सबसे ज्यादा म्युचुअल फंड में निवेश करने पर 77% यकीन रखती है. यही नहीं, 61% स्टॉक में भी पैसा लगता है. सिर्फ 31% को फिक्स डिपॉजिट और 20% को पीपीएफ पसंद है. 8 मार्च को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर इन्वेस्टमेंट प्लेटफॉर्म ग्रो (Groww) के द्वारा कराए गए सर्वे में यह बात सामने आई है.
ग्रो ने भारतीय महिला निवेशकों की निवेश की आदतों को समझने के लिए 2.5 लाख से अधिक महिलाओं पर सर्वे किया था. महज तीन दिन में 28,000 से अधिक महिलाओं ने सर्वे पर अपने जवाब भेजे हैं. ग्रो के सीईओ ललित केशरे ने कहा कि हमारी स्वतंत्रता के 70 वर्षों के बाद भी निवेश के बारे में निर्णय लेने में महिलाओं की भागीदारी बहुत कम है. इस सर्वे के जरिए महिला निवेशकों की निवेश प्राथमिकताओं, लक्ष्य, मानसिकता और बाधाओं में हुए बदलाव आदि को जानने की कोशिश की है. सर्वे में यह भी पाया कि किस तरह उम्र, आय, भौगोलिक स्थिति इन बदलावों पर असर डालती है.
यह भी पढ़ें : अदाणी पोर्ट्स आंध्र के दूसरे सबसे बड़े बंदरगाह में खरीदेगी हिस्सेदारी, मार्केट शेयर बढ़कर 30 प्रतिशत होगा

18-25 वर्ष की महिलाएं निवेश के फैसले लेने मेें सबसे ज्यादा स्वतंत्रसर्वे के मुताबिक 18-25 आयु वर्ग की महिलाएं निवेश संबंधी फैसले लेने में सबसे स्वतंत्र समूह के रूप में उभरी हैं. इस आयु वर्ग की लगभग 60% महिलाओं का कहना है कि वे अपने निवेश पर अंतिम निर्णय खुद ही लेती हैं. सीईओ केशरे के मुताबिक अधिक महिलाओं को निवेश करने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर ‘ग्रो वूमंस वीक’ शुरू कर रहे हैं. इसमें कंपनी 8 से 15 मार्च तक महिला निवेशकों के लिए जीरो ब्रोकरेज का शुल्क लिया जाएगा.
यह भी पढ़ें : अब एक्सिस बैंक ने भी वाट्सएप से मिलाया हाथ, जानिए बैंक ऐसा क्यों कर रहे हैं

15 प्रतिशत महिलाओं ने हायर स्टडी के लिए किया निवेश
60% महिलाओं ने व्यक्तिगत लक्ष्यों को साकार करने के उद्देश्य से निवेश किया. हायर स्टडी के उद्देश्य के साथ निवेश करने वाली महिलाओं की संख्या के मामले में दिल्ली ने अन्य राज्यों को पीछे छोड़ा और यहां कम से कम 15% महिलाओं के निवेश की वजह हायर स्टडी रही. 36% महिला निवेशकों ने यह भी कहा कि वे अपने परिवारों की सुरक्षा के लिए निवेश कर रही हैं. इतनी ही महिलाओं ने कहा कि वे जल्दी रिटायर होने के लिए निवेश कर रही हैं.
यह भी पढ़ें : अमेजन, पेटीएम से लेकर टाटा आरबीआई के इस लाइसेंस को पाने की होड़ में, जानिए क्या है वजह

32.95% महिलाएं निवेश के लिए दोस्तों और परिवार की लेती हैं सलाह

सर्वे के मुताबिक 32.95% महिलाएं अपने दोस्तों और परिवारों से सलाह लेती हैं. हालांकि जब निवेश से जुड़े अंतिम निर्णय लेने की बात आती है तो यह अधिकार उनके पास रहता है. 21.59% ने कहा कि वे स्वतंत्र रूप से निर्णय लेती हैं कि कहां और कैसे निवेश किया जाए. सर्वे यह बताता है कि महिलाएं न केवल एक विजन के साथ निवेश कर रही हैं, बल्कि संतुलित और लक्ष्य-केंद्रित मानसिकता के साथ अपने निवेश कर रही हैं.








Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *