मैसूर की सड़कों पर दौड़ने लगी अम्बारी डबल डेकर बस, लंदन की बिग बस से है प्रेरित


कर्नाटक सरकार ने मैसूर और हम्पी के लिए इस तरह की 6 पर्यटक बसों को तैनात करने के लिए 5 करोड़ रुपये की मंजूरी दी है.

कर्नाटक सरकार ने मैसूर और हम्पी के लिए इस तरह की 6 पर्यटक बसों को तैनात करने के लिए 5 करोड़ रुपये की मंजूरी दी है.

कर्नाटक सरकार ने मैसूर और हम्पी के लिए इस तरह की 6 पर्यटक बसों को तैनात करने के लिए 5 करोड़ रुपये की मंजूरी दी है.

मैसूर. लंबे इंतजार के बाद अब मैसूर (Mysuru) की सड़कों पर अम्बारी डबल डेकर बस (Ambaari Double Decker Bus) उतर चुकी है. इस बस को शानदार रंगों से पेंट किया गया है. यह मैसूर सिटी के आइकोनिक लैंडमार्क के दर्शन कराएगी. टूरिज्म डिपार्टमेंट और केएसटीडीसी (KSTDC) के प्रयासों से अम्बारी मैसूर में पहली डबल डेकर हॉप ऑन-हॉप ऑफ बस है. यह मैसूर में टूरिस्ट पर ध्यान केंद्रित करेगी. यह बस गुरुवार से मैसूर की सड़कों पर उतर गई हैं जिसका ट्रायल रन एक साल से चल रहा था.

लंदन की Big Bus से लिया गया है डिजाइन
इस बस को पर्पल कलर से पेंट किया गया है जिसमें आलीशान अम्बारी हाथी को दर्शाया गया है. इसमें यक्षगण और मैसूर की लोकल कला को दर्शाया गया है. अम्बारी डबल डेकर बस का डिज़ाइन लंदन की बिग बस (Big Bus) से लिया गया है. इसकी छत्त ऊपर से खुली हुई है. ये डबल डेकर बस Eicher Bus Chassis पर बेस्ड है. ये बस 15 फीट ऊँची है और इसमें 40 लोगों के बैठने की क्षमता है जिसे ऊपर और नीचे के डेक में बराबर बांटा गया है. इसके नीचे वाले डेक में एयर कंडीशन भी उपलब्ध है.

मैसूर और हम्पी में चलेंगी इस तरह की 6 पर्यटक बसेंराज्य सरकार ने मैसूर और हम्पी के लिए इस तरह की 6 पर्यटक बसों को तैनात करने के लिए 5 करोड़ रुपये की मंजूरी दी है. ये बस कर्नाटक के दोनों शहरों के बीच चलेगी. राज्य पर्यटन विभाग ऑनलाइन बुकिंग और टूर ऑफर देकर इस डबल डेकर बस को बढ़ावा देने की योजना बना रहा है. ये डबल डेकर बसें हर 30 मिनट में यात्रा शुरू करेंगी और इस बस का किराया 250 रुपए प्रति व्यक्ति तय किया गया है.

इन पर्यटन स्थलों को कवर करेगी अम्बारी बस 
अम्बारी बस क्रॉफोर्ड हॉल, कुक्करहल्ली झील, मैसूर विश्वविद्यालय, लोकगीत संग्रहालय, रामास्वामी सर्कल, मैसूरु पैलेस, मैसूरू चिड़ियाघर, करणजी झील, संगोलि रायन सर्कल, चामुंडी विहार स्टेडियम, सेंट फिलोमेना चर्च, बन्निमंतप सहित कई पर्यटन स्थलों को कवर करेगी. हम्पी के लिए भी इसी तरह की योजना बनाई गई है, हालांकि इस ऐतिहासिक शहर में सेवा का शुभारंभ होना बाकी है.








Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *